दीपू सिंह हत्याकांड: पहचान बदलकर छिपे से दो आरोपी, STF ने पटना से दबोचा

The Bihar Today News
The Bihar Today News
3 Min Read

[ad_1]

एसटीएफ ने पटना से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

एसटीएफ ने पटना से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

Bihar Crime News: दीपू सिंह हत्याकांड मामले में एसटीएफ (STF) को बड़ी कामयाबी मिली. टीम ने शनिवार को पटना से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

पटना. बिहार के भोजपुर (Bhojpur) जिले के चर्चित बूटन सिंह के भतीजे दीपू सिंह हत्याकांड (Dipu Singh Muder Case) मामले में शनिवार को पटना पुलिस के सहयोग से STF को बड़ी कामयाबी मिली है. STF ने पटना के कंकड़बाग थाना क्षेत्र स्थित अशोक नगर स्थित के एक मकान में छापेमारी कर प्रकाश चौधरी और अजितेश कुमार उर्फ गोलू नामक दो अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया. STF से मिली जानकारी के मुताबिक ये दोनों दीपू सिंह हत्याकांड मामले में शामिल थे. अपनी पहचान छुपा कर अशोक नगर में किराए के मकान से रह रहे थे. मालूम हो कि आरा के नवादा थाना क्षेत्र में दीपू सिंह की हत्या हुई थी.
गौरतलब है कि 24 मार्च 2021 को आरा के नवादा थाना क्षेत्र के सर्किट हाउस के पकड़ी चौक के पास फल दुकान पर खड़े दो हथियारबंद अपराधियों ने दीपू चौधरी के सिर और गर्दन में 2 गोलियां मारी थी. घटना के बाद दीपू को आरा के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालांकि अस्पताल में इलाज के दौरान दीपू चौधरी की मौत हो गई थी. इस घटना में दीपू चौधरी के एक दोस्त अशोक चौधरी को भी एक गोली लगी थी. इसका इलाज भी आरा के सदर अस्पताल में ही किया गया था.

ये भी पढ़ें: Uttarakhand News: कोरोना का बढ़ा खतरा, देहरादून में लगा नाइट कर्फ्यू, पढ़ें क्या रहेंगे नियम

पुरानी रंजिश और वर्चस्व की लड़ाई में हुई थी वारदातबता दें कि भोजपुर जिले में वर्चस्व को लेकर बुधवार को कुख्यात दीपू चौधरी की हत्या आरा शहर के पकड़ी चौक स्थित सर्किट हाउस के पास कर दी गई. हत्या के बारे में बताया गया कि जेल में बंद बूटन चौधरी को बुधवार को आरा कोर्ट में पेशी थी. इसी दौरान दीपू चौधरी और उसका साथी अजय चौधरी खर्चा पानी देने के लिए आरा कोर्ट आया था. तभी लौटते वक्त अपराधियों ने दीपू चौधरी और अजय चौधरी को दौड़ाकर बीच बाजार में गोली मारी. दीपू चौधरी की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि अजय चौधरी जख्मी हो गया. आरोपी उसे नाली में फेंककर आराम से हथियार लहराते हुए निकल गए थे.





[ad_2]

Source link

Share this Article