हिमाचल के 4 जिलों में सीरो सर्वे करवाएगा ICMR: कोरोना की तीसरी लहर से पहले कांगड़ा, मंडी, ऊना और चंबा में पता लगाया जाएगा-कितने लोग वायरस से लड़ने में सक्षम; 15 सितंबर तक आएगी रिपोर्ट

The Bihar Today News
The Bihar Today News
3 Min Read

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Before The Third Wave Of Corona, It Will Be Ascertained In Kangra, Mandi, Una And Chamba How Many People Are Able To Fight The Virus; Report Will Come By 15 September

शिमला2 दिन पहले

  • कॉपी लिंक
शिमला के लोअर बाजार में राखी के त्योहार से पहले खरीददारी करने वालों की भीड़। - Dainik Bhaskar

शिमला के लोअर बाजार में राखी के त्योहार से पहले खरीददारी करने वालों की भीड़।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) हिमाचल में कोरोना संक्रमण प्रभावित 4 जिलों में सीरो सर्वे करने जा रही है। इनमें कांगड़ा, मंडी, ऊना और चंबा शामिल है। तीसरी लहर आने से पहले ये पता करने की कोशिश की जा रही है कि इन जिलों में कितने लोगों में एंटीबॉडी बन चुकी है। सर्वे रिपोर्ट 15 सितंबर तक आ जाएगी। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि अक्टूबर माह में कोविड की तीसरी लहर हिमाचल आ सकती है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग अब इस रिपोर्ट के आने का इंतजार करेगा। सीरो सर्वे में 500 से 600 लोगों का ब्लड का सैंपल लिया जाता है, जिसमें यह जांच की जाती है कि क्या शरीर में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी बन गई हैं या नहीं।

ICMR ने इससे पहले कुल्लू जिले में सीरो सर्वे करवाया था, जिसमें 62 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी मिली थी। स्वास्थ्य विभाग के सचिव अमिताभ अवस्थी का कहना है कि नए मामलों के आने के बाद यह पता चला है कि सार्वजनिक कार्यक्रमों में उमड़ रही लोगों की अत्यधिक भीड़ संक्रमण को बढ़ावा दे रही है। इससे रोजाना संक्रमण के ज्यादा मामले आ रहे हैं।

हिमाचल की 90 की आबादी को लग चुकी है पहली डोज
सेहत विभाग के अनुसार हिमाचल की 90 फीसदी आबादी को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। राज्य में कुल 55 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जानी है इन सभी की उम्र 18 साल से ज्यादा है। अभी तक 51 लाख 36 हजार 11 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है। इसके अलावा 15 लाख 17639 लोगों को दोनों डोज लग चुकी है ये कुल आबादी का 28 फीसदी है। राज्य में रोजाना 50,000 से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग रही है। हिमाचल के पास अभी दो लाख के करीब वैक्सीन का कोटा बचा हुआ है।

मेडिकल कॉलेजों में मरीजों का आंकड़ा
शिमला में प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल IGMC में कोरोना संक्रमित 25 मरीजों का इलाज जारी है। कांगड़ा के टांडा मेडिकल कॉलेज में 21 लोग एडमिट हैं। मंडी के नेरचौक में बनाए गए मैकशिफ्ट अस्पताल में 15, चंबा, हमीरपुर और नाहन मेडिकल कॉलेजों में भी 5 से 10 के करीब मरीज एडमिट हैं।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Share this Article