अब नीली जर्सी में नहीं दिखेंगे माही।

The Bihar Today News
The Bihar Today News
2 Min Read

भारत के दिग्गज खिलाड़ी और विश्व कप विजेता कप्तान एमएस धोनी मैं संन्यास की घोषणा कर दी है।

39 वर्षीय धोनी ने 2007 विश्व ट्वेंटी -20 खिताब, 2011 विश्व कप और 2013 चैंपियंस ट्रॉफी में भारत को विजेता बनाया था।
उन्होंने इंस्टाग्राम पर लिखा,
“आपके प्यार और समर्थन के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। आज शाम 7:29 बजे से मुझे रिटायर्ड समझे”।

2004 में भारत की ओर से पदार्पण करने वाले धोनी ने 350 मैच में 10,773 एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय रन बनाए – जो कि इतिहास का 11 वां सबसे ज्यादा रन है किसी निजी बल्लेबाज का । उन्होंने 90 टेस्ट और 98 टी 20 भी खेलें। वह इस साल के अंत में इंडियन प्रीमियर लीग में खेलेंगे।

विकेटकीपर धोनी ने 2014 में खेल के सबसे लंबे प्रारूप टेस्ट से संन्यास लेने से पहले 4,876 टेस्ट रन बनाए और आईसीसी रैंकिंग में भारत को शीर्ष पर पहुंचा दिया।

2007 में भारत के कप्तान बने धोनी ने, 200 एकदिवसीय और 72 टी 20 में भारत का नेतृत्व किया, तीनों प्रारूपों में से प्रत्येक में 50 से अधिक मैचों में कप्तानी करने वाले एकमात्र खिलाड़ी है।

धोनी अपनी पीढ़ी के सबसे रंगीन और करिश्माई क्रिकेटरों में से एक थे, उनके फैंस ने सचिन तेंदुलकर जैसा सम्मान देते थे । क्रिकेट और क्रिकेट के मैदान में उनका स्टारडम किसी बॉलीवुड सुपरस्टार से भी अधिक था।
थैंक्स को 2011 के वर्ल्ड कप का फाइनल आज भी याद है जब धोनी के नाबाद 91 रन 79 गेंदों में बनाए और छक्का मार कर 2011 का विश्व कप भारत के नाम कर दिया।
धोनी ने हेलीकॉप्टर शॉट का इजाद किया था। धोनी ने पहले टेस्ट में 224 रन बनाए।

Share this Article